विद्यालयों में सहयोग या प्रतिस्पर्धा

 

‘विद्यालयों में सहयोग या प्रतिस्पर्धा’ के विषय पर पूछिए अपने सवाल या लिखिए अपनी राय, नीचे Comments में|

Leave a Reply

Notify of
Chandeep

The reinforcement of the messages shared by Mr Prem in his regional language Bhojpuri was a WOW moment for me.

Chandeep

Excellent examples quoted by Mr Prem Ojha, the educationist, on how to Replace the C of Competition with C of Collaboration with our learners in the school environment. This is the need of the hour as it is the 21st Century skill which most of the hiring authorities in the world of work are looking for in their hiring team

manorma

Sahyog aur pratispardha both compulsory and more time give for student

Arunish Koundal

Sahyog aur pratispardha both compulsory

pavan Kumar

Sir tuition me adhik 10th class k students kese badayen please

hemant Kumar kanwar

सभी बच्चों में सहयोग की भावना रहती है प्रतिस्पर्धा करने की आवश्कता नही है, जब प्रतिस्पर्धा करते समय स्वंय की जब पराजय होती है तो बच्चों में कुछ समय के लिए खुद से विश्वास खत्म हो जाता है।

raghuvansh mishra

It is very realistic and inspirational Lesson.

khubchand barle

स्वस्थ प्रतियोगिता होनी चाहिए ।सहयोग तो रहता ही है ।

sulochana netam

Sahyog hona chahiye

Vijay kumar

विधालय में प्रतिस्पर्धा ठीक नहीं होती। सहयोग की भावना जरुरी है। ।

Hari lal soni

सहयोग के साथ प्रतिस्पर्धा भी जरूरी है ।

chitrakumar bhoi

सहयोग

yashwant nayak

Vidhyalaya Mai pratispadha thik nahi hai

lchhniya uddey

Sahyog

smt. Roshani kashyap

Thanks

Tulsi Markam

vidyaly mien pratispardha aur sahyog dono Hona chahiye

लक्ष्मी सोनी

स्कूलों में प्रतिस्पर्धा कतई ठीक नही है। परस्पर सहयोग से ही कई उद्देश्यों की प्राप्ति होती है। प्रतिस्पर्धा में केवल एक ही जीतेगा किन्तु सहयोग में एक साथ सबकी जीत होगी

rajesh singh

संकुल के अलग अलग शालाओ के शिक्षकों में परस्पर सहयोग की भावना होनी चाहिए

Chandra Prakash chaturvedi

Sahayog

नीलिमा गजपाल

सहयोग

mahendra singh parihar

विद्यालयों में परस्पर सहयोग के साथ-साथ बच्चों में पढाई के क्षेत्र में प्रतिस्पर्धा का होना भी जरूरी है।

Subodh Bhoi

सहयोग

DINESH KANWAR

सहयोग

renuka

Sahyog

smt mavita thakur

सहयोग

raghuvansh mishra

We should make our students as a cooperative man,not a competitors for tensionless life.
Good Lesson

right

Arjun

point

wpDiscuz
28 Comments
16