कुछ बच्चे खामोश क्यों

‘कुछ बच्चे खामोश क्यों’ से जुड़े सवाल हम से पूछिए या लिखिए अपनी राय, नीचे Comments में|

Leave a Reply

Notify of
niranjan lal patel

nice

Babita Sharma

good.there is a girl swati in my class 2nd.she is very quiet and I am doing many things with her as r suggested in this video.

Laxmi Baghel

Good

munni Yadev

good

घनश्याम कुमार सहायक शिक्षक एलबी शासकीय प्राथमिक शाला बड़गांव

बढ़िया सुझाव।

rameshwarprasadbhagat

बहुत ही उपयोगी जानकारी दी गई है।

ओमप्रकाश सिदार

अच्छा विचार है।

ramesh nirmalkar

very good

Mahesh Singh

उपचारात्मक सुझाव

Rakesh Chandra Mathpal

आशा है ये सुझाव कक्षा में काम आएँगे।अनुकरणीय हैं।

बाबूलाल पटेल
खामोश रहने वाले बच्चों के साथ यदि मित्रवत व्यवहार किया जाय 1 उसके साथ मिड डे मील खाएं 2 उसके कंधे पर पूरा बांहें डाल कर दोस्ताना व्यवहार करें 3 उन्हें हँसाये जैसे कि “ह” की बारहखड़ी 4 उन्हें अक्सर प्रोत्साहित करते रहें जैसे “well-done” “शाबाश” “बहुत अच्छे” ” आप तो होशियार हैं ” आदि शब्दावलियों का प्रयोग 5 ऐसे बच्चे अंतर्मुखी प्रतिभा के धनी होते हैं जैसे “चित्रकला” ” नृत्य”‘ खेल ” आदि वो जिसमें ज्यादा रूचि दिखाते हों उनके साथ सहयोगी बनना चाहिए उपरोक्त तरीके अपनाने से भी ऐसे बच्चे शीघ्र खुल कर बातें करना प्रारम्भ कर देंगे
ओम प्रकाश गबेल सहायक शिक्षक LB, शासकीय प्राथमिक शाला पुरेना

सच मे जो बच्चे नही बोलते है ओ भी बोलने लगते है

vijaylaxmi Thakur

bilkul sahi

Khilawan Singh Thakur

Nice

sandhya mishra

Helpful and good suggestion

Chumeshwar ram kashi

अच्छी जानकारी , कक्षा में मददगार

Hiramani tiwari

अच्छी जानकारी दी है

BAL MUKUND SIDAR

good

toshika kumeti

bhut achchha sujhav

Pradeep Yadav

बहुत बढ़िया उपचारात्मक सुझात् के लिए सादर धन्यवाद।

keshwar singh

good idea

Anand ram dewangan P/S BUDIYA (TAMNAR)

अच्छा सुझाव है।

Govardhan Lal Yadav

स्थानीय गतिविधि की चर्चा तथा मातृभाषा का प्रयोग उसे बोलने को विवश कर देता है , त्योहार, पर्व, खानपान , पहनावा आदि की सामूहिक चर्चा उसे हँसने बोलने को विवस कर देती है ।
बाकि पारिवारिक प्रभाव नगण्य रहता है ।

Ramdular Nirala

सुझाव अनुकरणीय है ।

Radheshyam chouhan

good

Hira oraon

nice

PRABHA SAO

good chat

कमलकिशोर ताम्रकार M/S उसरीजोर वि़ख़. मैनपुर जिला गरियाबन्द

सन्नाटो मे हम सरगम बन जायेगे़.
खुशियो के दामन हम सजाये़गे..

Rawindra Kumar Madhukar

Aise bachcho ko unke ruchi ke anusar sports se bhi abhivyakti ke liye taiyar kiya ja Santa hai….

Umesh Kumar dangi

jayanwardhak

wpDiscuz
186 Comments
57