आशीष रंगारे के शाला में 20 साल

रायगढ़, छतीसगढ़|

प्रिय Humans of Indian Schools,

20 साल की शासकीय सेवा में मैंने बहुत कुछ सीखा है, और उन्ही कुछ बातों को मैं आपके साथ बाँटने आया हूँ। जब मैं शासकीय प्राथमिक शाला, हरदीझरिया , रायगढ़ में एक अध्यापक की पोस्टिंग पर लगा तो यहाँ बच्चों की कक्षा के लिए एक भवन भी नहीं था। पीने के पानी से लेकर शौचालय तक, कोई बुनियादी सुविधा नहीं थी। जब मैं उस विद्यालय के छोटे छोटे बच्चों को इन बुनियादी सुविधाओं के लिए तरसता देखता था, तो मुझे बहुत पीड़ा होती थी| मन ही मन मैंने ठान लिया था कि इन बच्चों के लिए मैं पढ़ाई को एक सुखद अनुभव बनाऊँगा|

आज मेरी वह कल्पना सफल होती दिख रही है। चाहे अपने वेतन से ही सही, पर मैं अपनी शाला में अच्छी सुविधाएँ लाया। शाला प्रांगण की पक्की ढलाई करवाई, ताकि बरसात का पानी जमा होने से बच्चों की पढ़ाई में बाधा उत्पन्न न हो। पानी का कनेक्शन लगवाने के बाद मैंने एक डाइनिंग मेज बनवाया, जिसपर बच्चे बैठ कर मध्यानय भोजन कर सकें। शाला के कमरों की पुताई करवाने के बाद मैंने वहाँ मेज लगवाये|

इस सबके बाद भी कई बच्चे पैसों के अभाव के कारण अपनी शिक्षा पूरी नहीं कर पा रहे थे। ऐसी दो बच्चियों के कॉलेज की शिक्षा न रुके, इसके लिए उनकी शिक्षा का खर्चा मैं उठा रहा हूँ।

इतने प्रयास के बाद जब इन बच्चों के चेहरों पर मुस्कराहट देखता हूँ तो लगता है के जीवन का संघर्ष सफल रहा है ,और यूँ ही जारी रहेगा। मुझे विश्वास है कि आप भी अपने विद्यालयों में इसी प्रकार बदलाव ला रहे हैं|

आपका प्रिय,

आशीष रंगारे

यह कहानी श्री आशीष रंगारे के जीवन पर आधारित है जो, रायगढ़, छत्तीसगढ़ से हैं|
कहानी लावन्या कपूर के द्वारा लिखी गयी है|  
हम छत्तीसगढ़ सरकार के आभारी हैं कि उन्होंने हमें  Humans of Indian Schools से परिचित किया|

Leave a Reply

Notify of
Neeta Pandey

very good

shraddha kedia

good

rameshwarprasadbhagat

बहुत अच्छा

daleep singh

Good

Subhash Kumar Gupta

very nice

kumari Preeti Shrivas

good

श्रीमती प्रियंका गोस्वामी

आदरणीय आशीष रंगारे जी,,,आत्मीय नमन,,,,,
🌺🌺🌺🌺🌺🌺🌺🌺🌺🌺🌺🌺🌺

स्वर्ण अक्षर 【कविता 】
🌺🌺🌺🌺🌺🌺🌺🌺

समर्पित शिक्षक सदा विद्यार्थियों के दिलों में महका करेंगें,,,,,,
कर्मठता की ज्योत जला ,,,हृदय में समाहित रहेंगें,,,,,,,,,,,,

पूरी एक उम्र इस ओहदे को सौंपना ,,,,सबके वश की बात नहीं,,,
सच्ची सेवा देकर ,,,,,शिक्षक सदा मोंगरे से गमकते रहेंगें,,,,,,

साक्षी रहेगा इतिहास ,,शिक्षक के समर्पण का,,,,,,,
ज्ञान के हर कतरे ,,स्मृतियों में संचित रहेंगें,,,,,,,

महकती शिक्षा भूमि ,,,,शिक्षक की कर्तव्यपरायणता से,,,,,
शिक्षक बनेंगे नवाचारी,,,,वो सीमित न रहेंगें,,,,,,,,,

परिवर्तित होगा समय एक दिन ,,,,देख लेना साथियों,,,,,,,,
शिक्षक के शब्द ही ,,स्वर्ण अक्षरों में लिखे जाएँगे,,,,✍️

Jitendra Kumar Bhardwaj

pranam

kedar Nath Deshmukh

Nice आशीष जी

बहुत बढ़िया

Hira oraon

nice

Shweta tiwari

सही

Shweta tiwari

बेहतरीन

sandhya kumari

very good

Govind Patel

very good

श्रीमती प्रियंका गोस्वामी

आदरणीय आशीष जी,,,,हार्दिक बधाइयाँ,,,,
▪️▪️▪️▪️▪️▪️▪️▪️▪️▪️▪️▪️
शाला के 20 साल 【 कविता 】
➖➖➖➖➖➖➖➖✍️

बीस साल ज़िंदगी की,,
वक़्त का हिस्सा बड़ा,,,,
समर्पण की राह पे,,,,,
धन्य जो शिक्षक खड़ा,,,,,,

जो बादलों की गर्जन,,,,,
सा गरज के अड़ा,,,,,,,
जो सागर की लहरों को,,,,,
चीर कर चला,,,,,

जो बदलाव की भीनी,,,,,
खुशबू फैला के बढ़ा,,,,
जो निष्ठा की नीलम,,,,,
धारण कर चला,,,,,

अदम्य साहस की छिटकती चिंगारी,,,,
प्रेरणाओं के जोशीले हैं अंगारे,,,,,
जो शिक्षकीय रजत पट को,,,,,
ऊर्जा से भर दें,,,,,,,
आप हैं श्रीमान आशीष रंगारे,,,,,,,
आप हैं श्रीमान आशीष रंगारे,,,,,,✍️✍️✍️

kedar Nath Deshmukh

आशीष जी आप का कार्य बहुत ही सराहनीय है.. बच्चों के लिए जो आपने किया है वह बहुत ही नेक काम है…. Aapko सहृदय बधाई

Laxmi Baghel

Very good sir ji

Radheshyam chouhan

very good

niranjan lal patel

अनुकरणीय सरजी

Naresh kumar Chamba

very nice

श्रीमती प्रियंका गोस्वामी

आदरणीय आशीष रंगारे जी,,,,,,,,
मेरा स्पष्ट मानना है,,,कि,,,,,,

शिक्षक वह जो सदा सीखे,,,,,
शिक्षक वह जो सदा सिखाये,,,,,,,
शिक्षक वह जो,,,,,,,,,,
कोयले को कोहिनूर बनाये,,,,,,,
शिक्षक वह जो,,,,,,,
अपनी हृदय की पुकार सुन पाए,,,,,,,,
जो विद्यालय से अथाह आत्मीयता रख पाए,,,,,,,

इन तमाम सोच से कहीं परे,,,,, इन सबसे भी अधिक ,,,प्रेरणास्पद आपका व्यक्तित्व है,,,,,
आप हम सभी शिक्षकों की प्रेरणा हैं,,,,,,आत्मीय नमन,,,अनुपमेय प्रयासों के लिए,,,,✍️✍️✍️

nilam Anju purty

very nice.

Anand ram dewangan P/S BUDIYA (TAMNAR)

बहुत ही सराहनीय प्रयास किया है।

PRABHA KUMARI

very good aap ke dwara kiya ja raha karya lajawab hai.

Hira oraon

very nice anukarniye

BAL MUKUND SIDAR

good activity

Mahesh Ram Baiga

Great sir ji

pardeshi Lal

good very nice.

कमलकिशोर ताम्रकार M/S उसरीजोर वि़ख़. मैनपुर जिला गरियाबन्द

बहुत ही सुन्दर और लाजवाब

Rama sahu p/s sildaha

very nice

RAMESH KUMAR RATHORE

असफलता एक चुनौती है

Nisha devi

good

Santosh Kumar

good work

श्री मोजय शंकर पटेल

बहुत सुंदर

Aruna diwan

very nice

Aaditya sharma

nice

Arjun varma

great sir

arpan

an emotional and innovative practice done by rang are sir

samiksha tripathi

स्कूल के प्रति कर्तव्यनिष्ठ शिक्षक को सादर नमन

raghuvansh mishra

good

Tilak Ram Patel

very nice

wpDiscuz
41 Comments