एक विद्यालय अनेक काम

बलोदा बाज़ार, छत्तीसगढ़|

“विद्यालय का प्रबंधक बनना मतलब एक बहुमूल्य चुनौती को स्वीकारना| मैं हर क्षेत्र के हर बच्चे के समग्र विकास के लिए मेहनत करता हूँ और मैं खुश नसीब हूँ कि पूरा समुदाय मेरा साथ देता है और मुझे प्रोत्साहित करता है|

हम उन्मुखीकरण कार्यक्रम (orientation program) के मध्यम से माताओं को समझाते हैं कि किस प्रकार घर में बच्चों को पढ़ाई के प्रति जागरूक करने से उनकी कक्षा में प्रदर्शन बेहतर होता है| आखिर बच्चे सबसे अधिक अपनी माँ से ही तो सीखते हैं| विद्यालय में हम बच्चों को विभिन्न खेलों में भाग लेने के लिए उत्साहित करते हैं, उन्हें व्यायाम, योग इत्यादि से भी परिचित करवाते हैं| वे सांस्कृतिक कार्यक्रम, संगीत, नृत्य व नाटक में भाग लेते हैं|

अपनी रुचियों और प्रतिभाओं के आधार पर एक बच्चा दूसरे से बिलकुल अलग होता है| और इसलिए  हम यह मानते हैं कि बच्चों को विभिन्न गतिविधियों तथा कलाओं से परिचित करके हम उन्हें अपनी राह चुनने के लिए स्वतंत्रता देते हैं|

बच्चों को कोर्स के अलावा विभिन्न पुस्तकों व कहानियों को पढ़ने के लिए प्रोत्साहित करने के लिए मैंने विद्यालय में एक पुस्तकालय का निर्माण किया, जिसे मैंने मुस्कान पुस्तकालय नाम दिया|

इस पुस्तकालय के लिये हमारे शासन सचिव की ओर से पाठ्य पुस्तक  निगम के द्वारा 180 पुस्तकें उपलब्ध कराई गई थी| इनमें स्थानीय कहानियाँ भी शामिल की गयीं। मुस्कान पुस्तकालय के तहत मैंने बच्चों की सहायता से एक बाल कैबिनेट की शुरुआत की जिसके सदस्यों ने पुस्तक वितरण की ज़िम्मेदारी ली। मैं गर्व से यह कह सकता हूँ कि मेरे विद्यालय के छात्रों में नेतृत्व कौशल कूट-कूट कर भरा है|

पर केवल किताब ही नहीं, बच्चे अनुभवों से भी सीखते हैं| और नए अनुभवों से बच्चों को परिचित करने के लिए मैंने उन्हें कैंप में ले जाना शुरू किया| कैंप में, मैं उन्हें वृक्षारोपण करने के लिए प्रोत्साहित करता हूँ| यह कार्य मैंने उच्च वरिष्ठ माध्यमिक विद्यालय में 8 साल तक किया| इससे बच्चों ने विद्यालय में भी पेड़ लगाए| जब मैं आज इन लम्बे पेड़ों को देखता हूँ, तो बहुत खुश होता हूँ| विद्यालय केवल चार दीवारों के बीच उपलब्ध स्थान नहीं होता| विद्यालय बनता है बच्चों की भावनाओं, उनके आविष्कारों और उनके सपनों से|

यह कहानी श्री राम दुलार निराला के जीवन पर आधारित है जो, बलोदा बाज़ार, छत्तीसगढ़ से हैं|
कहानी तहरीन रेयाज़ के द्वारा लिखी गयी है|  
हम छत्तीसगढ़ सरकार के आभारी हैं कि उन्होंने हमें  Humans of Indian Schools से परिचित किया|

Leave a Reply

Notify of
Neeta Pandey

very nice

rameshwarprasadbhagat

बहुत अच्छा

Subhash Kumar Gupta

very nice

kumari Preeti Shrivas

good

श्रीमती प्रियंका गोस्वामी

आदरणीय श्री रामदुलारा जी,,,,,आत्मीय नमन,,,,
🌺🌺🌺🌺🌺🌺🌺🌺🌺🌺🌺🌺🌺🌺

सोने की फ़सल 【कविता 】
🌺🌺🌺🌺🌺🌺🌺🌺

एक विद्यालय काम अनेक,,,,,हम शिक्षक कहलाते हैं,,,,,
दक्ष करेंगे विद्यार्थियों को,,,,भविष्य हम दिखलाते हैं,,,,,,,,,

कितना पावन यह विद्यालय,,पावन मन हर बच्चा है,,,,,,,
सरस्वती को शीश नवाते,,,हर बच्चा दिल का सच्चा है,,,,,

कितनी ही ऋतुएँ आतीं जातीं ,,ज्योति कलश की ज्ञान रश्मियाँ,,,
हर मौसम विद्यालय पढ़ता,,,,, विद्या ज्योति मधुर झलकियाँ,,,,,,,,,

अदम्य साहस शिक्षक का,,,परिचायक मेरे देश का,,,,,
विद्यार्थी करते हैं पालन ,,,संस्कारों के आदेश का,,,,,,,,

शिक्षक जो हिम्मत के पथ पर,,,डंटकर चलता जाता है,,,,,,,,
गौरवमयी धरती में मेरी,,,,,, सोने की फ़सल उगाता है,,,,,,,,✍️

SURESH KUMAR MARKAM

बहुत सुन्दर

dhruw kumar mahant

समुदाय का विश्वास जितना और उनको विद्यालय से जोड़ना अपने आप मे महत्वपूर्ण बात है।समुदाय का साथ विद्यालय के विकास के लिए नितांत आवश्यक होता है।आपने समुदाय को जोड़ने का काम किया बधाई के पात्र हैं।

kedar Nath Deshmukh

बहुत बढ़िया

sandhya kumari

अति उत्तम

Govind Patel

very good

kedar Nath Deshmukh

बहुत सुन्दर

श्रीमती प्रियंका गोस्वामी

आदरणीय श्री राम दुलारा जी,,,,,हार्दिक बधाइयाँ,,,,,,,
▪️▪️▪️▪️▪️▪️▪️▪️▪️▪️▪️▪️▪️▪️
वो सुनहले लम्हे ✍️【 कविता 】
➖➖➖➖➖
कभी -कभी मैं सोचती हूँ,,,,हिम्मतों की नई दरिया बना लूँ, ज़रा,,,,
कुछ पल के लिए ही सही,,,,,समंदर को ही तकिया बना लूँ ज़रा,,,,,

मन करता काग़ज की कश्ती बनाऊँ कुछ पल के लिए ही सही ,,,,
चढ़ जाऊं जरा,,,,,,
भागमभाग बस्ता पकड़ूँ,,कुछ पल के लिए ही सही,,,,
विद्यार्थी बन जाऊँ ज़रा,,,,,

वो आईने के सामने खड़ी होती हूँ ,,दर्पण सँग बतियाती जब ज़रा,,,
लगता स्कूल की यूनिफार्म,,दो प्यारी चोटियों सँग नज़र आऊँ ज़रा,,

क़िताबों के बीच से झांक- झांक माँ को आवाज़ लगाऊँ जरा,,,,,,
लड़ते झगड़ते भाई सँग कापियों में ज़िल्द चढ़ाऊँ ज़रा,,,,,✍️✍️✍️

विद्यार्थी जीवन,,सच,,,अविस्मरणीय पल,,,,,
✒️✒️✒️✒️✒️✒️✒️✒️✒️✒️✒️✒️

श्रीमती प्रियंका गोस्वामी

आदरणीय श्री राम दुलार निराला जी,,,,,सराहनीय प्रयास
💐💐💐💐💐💐💐💐💐💐💐💐💐💐💐💐

एक विद्यालय अनेक काम,,,,,,,,,,
जीवन है चुनौतियों के नाम,,,,,,,,,,

चाहती हूँ कोई तो चिंगारी भड़के,,,,,,
प्रयोगों के दावानल ही दहकें ,,,,,,,,

मेरे कलम की नीली स्याही,,,,
कोई तो ज्वालामुखी ही भड़के,,,

नव मिसाल की नव राहों पे,,,,,,,
पुष्प कमल ही ऐसे महके,,,,,,✒️✒️✒️

जैसे नाविक की कोशिशें,,,,,,,
माप रहीं सागर का सीना,,,,,,,,

जैसे चींटी की श्रम गाथा,,,,,,,
श्रम बूंदें हैं श्रेष्ठ नगीना,,,,,,,,

जैसे पर्वत की चोटी पर,,,,,,,
विजय पताका फहराते,,,,,,,,,✒️✒️✒️

जैसे शिक्षा के मनकों से,,,,,,,
शिक्षक खुद माला बन जाते,,,,✍️✍️✍️

Laxmi Baghel

Good

yasvant sinha

Good

Radheshyam chouhan

good

niranjan lal patel

nice

Naresh kumar Chamba

nice

Anand ram dewangan P/S BUDIYA (TAMNAR)

बहुत ही अच्छा और सराहनीय प्रयास किया है।

nilam Anju purty

very nice

PRABHA KUMARI

very nice

Champa devi

बहुत अच्छा

BAL MUKUND SIDAR

good

श्रीमती प्रियंका गोस्वामी

आदरणीय श्री राम दुलार निराला जी,,,बहुत ही सराहनीय कार्य,,,,प्रयासों की राह पे कदम यूं ही अडिग रहें,,,,
हर पल आप कुछ नया करते ही रहें,,,, गर्व है आप पर,,,✍️

pardeshi Lal

gopd nice

Rama sahu p/s sildaha

बहुत अच्छा

Mahesh Ram Baiga

Very good idea

Hira oraon

nice

कमलकिशोर ताम्रकार M/S उसरीजोर वि़ख़. मैनपुर जिला गरियाबन्द

बहुत ही सुन्दर और लाजवाब

Ramdular Nirala

Thanks sir ji

कमलकिशोर ताम्रकार M/S उसरीजोर वि़ख़. मैनपुर जिला गरियाबन्द

very good

Santosh kumar

Nice work

Ramdular Nirala

Thanks sir ji

RAMESH KUMAR RATHORE

बहुत अच्छा

Ramdular Nirala

Thanks sir ji

Nisha devi

good

Santosh Kumar

good Sir great idea

Ramdular Nirala

Thanks sir ji

Aruna diwan

effective

Aruna diwan

i also do this activity

श्री मोजय शंकर पटेल

बहुत सुंदर प्रयास

Ramdular Nirala

Thanks sir ji

Aaditya sharma

nice

Arjun varma

bahot achha prayas

Jhaneshwar Kumar Dewangan

NIRALA SIR KA PRAYAS SARAHNIYA HAI

Ramdular Nirala

धन्यवाद

Parmeshwar

आप की कहानी प्रेरणादायक है ।
आपकी इस कहानी को पढ़कर हमारे अंदर एक नई ऊर्जा का संचार हुआ है।

Ramdular Nirala

thanks sir ji

raghuvansh mishra

good

Ramdular Nirala

धन्यवाद सर जी

PAWAN KUMAR SHRIVAS

श्री निराला सर जी की कहानी प्रेरणादायक है

Ramdular Nirala

धन्यवाद सर जी

rukhmani nishad

thanks sir

resham

very nice work

wpDiscuz
54 Comments